Bunny B….!!!!

July 16, 2018
Shanky❤Salty

जिंदगी का खास है तु

ये दिन तुम्हारा क्या कहुं

चाहता हूं यही

बस घड़ी दो घड़ी साथ रहुं

You have became bit old
Not only by body
But also by heart
You have became bit more matured
And God knows
He has created a Special Human Being
The Time has come of which we were waiting for
This is a special day for you & us
I can’t change the past
Nor do I want to
Everyday is a new start
When spent with you
An amazing journey with roads have no end
Is what life is, when lived with a real friend-cum-brother
From smile to tears, from happenies to strife
You are the best thing that happened in my life

Happy Birthday ❤Bunny B❤

#shankysalty #wordpress #yqbaba #birthday #yqdidi

Follow my writings on https://www.yourquote.in/ashish05shanky #yourquote

Advertisements

1000 Likes….!!!

July 13, 2018
Shanky❤Salty

I can not say how much I appreciate reaching 1000 likes on wordpress. Never in my years of blogging have I thought one day I would reach 1000 likes. So thank you for this milestone.

Even though I’ve been posting things irregularly on the Shanky❤Salty blog, this little notification came to my attention.

1000 likes on my blog!

I would have never reached it without my amazing followers & my lovely visitors.

भारतीय सेना…..!!!

July 12, 2018
Shanky❤Salty

Mr. Adwitiya Pradhan is our Future Army Officer.

सरहद कि लड़ाई को कोई क्या जाने
यहाँ तो लोग ‘काउंटर स्ट्राईक’ और ‘मिनी मिलिशिया’ में एक दूसरे पे अटैक करने में लगें है।

बिन हवा के तिरंगा आज भी लहरा रहे है
क्युकिं सेना का जवान और खेत का किसान
बिन बेईमानी जी रहे है

आग सी गर्मी
बर्फ सी सर्दी
हो गए नतमस्तक
जब पहने देश के जवान वर्दी

लाशों का शिकार नहीं करता
पीठ पर वार नहीं करता
घुस कर सीने पे मारता हुं
सरहद कि रक्षा करता हुं

देश कि बोली लगाई देशद्रोहीयों नें
साक्ष्य माँगे सेना के शौर्य पे
मनोबल तोड़ते
सियासत कि रोटी के लिए

छप्पन इंच सिना भी सत्ता में सिमट गया
हम कड़ी निंदा करते है
और
गर्व है हमें इनकी सहादत पर
इनका नेता कह गया

जो देश के दुश्मनों को धुल चटाता है
जो हमें रातों को चैन कि निंद सुलाता है
ये हमारी सेना का शौर्य बल ही है
जो हमें अभिमान कराता है एैसे वीरों पर

युद्ध का लाल रंग
इन्हें कुछ ज्यादा पसंद आ गया
सरहद पर तिरंगा
कुछ उचा लहरा गया

जवानों ने अपनों का सुख खोया
पर करोड़ों देशवासियों का प्यार और दुआ पाया

हम इस जिंदगी को जहन्नुम कहते
रोते-रोते जिंदगी काट रहे
जरा देखो तो मेरे प्यारे जवानो को
हसते-हसते माँ भारती के लिए शहीद हो रहे

नमन है उस माँ की परवरिश को
जिसने उस औलाद को जन्म दिया
जो छोड़ गया उस माँ को
भारत माँ के लिए

बहुत खुब फरमाया था
सेना के एक अफसर ने

कुछ तो बात है मेरे भारत देश कि मिट्टी में
जो सरहद पार कर आते है यहाँ दफन होने

Image credit SG16

गरीबी…..!!!

July 9, 2018
Shanky❤Salty

मुझे आज कुछ कहना है
इस गरीबी पे
इस भूख पे
क्युकिं आज मैंने गरीबी और भूख को पास से देखा है

चार दीवारी में बैठ कर
मैं घर बनवा रहा
बाहर कड़ी धूप में मजदूर-मिस्त्री को जलते देखा
ताकि वो अपने घर का चुल्हा जला सके

गरीबी बिन माँगे हुनर देती है
बीस कि उम्र में मजदूरी करना सिखा देती है
चावल के कुछ दाने ही काफी है भूख मिटाने के लिए
सुना है गरीबी फरमाईस का मौका नहीं देती है

गरीबी जान निकाल देती है
सपनों को कैद कर
आँखों से आँसू निकाल देती है
पेट कि आग को भात-भात कह कर मौत देती है

कोयले के खदान में एक भूत देखा
कालिख से पूता हुआ था
कोयले के खदान में आग लगा था
पर शायद उस भूत के पेट में आग लगा था
सरकार इसे कोयला चोरी कहती है
लेकिन भूल जाती है अपने किये हुए वादे!!!
कोई भूखे पेट नहीं सोएगा!!!
कोई बेघर नहीं रहेगा!!!
बाल मजदूरी रूकेगी!!!
गरीबी मिटेगी!!!

पगड़ी वाले से चाय वाला आ गया
पर कभी किसी को
गरीबी-बेरोजगारी-भुखमरी के लिए गठबंधन करते नहीं देखा गया!!!
वादों से आपनी झोली भरना आता है इन्हें
पर भूखे का पेट भरना नहीं आता है

गाँव से गुजर रहा था
एक झोपड़ी के बाहर सुस्वागतम् लिखा था
शहर आया, और देखा
एक अलीसान मकान के बाहर कुत्ते से सावधान लिखा था
आप भी देख सकते हो
गरीब के पास धन कि दरिद्रता
परंतु उसका ह्रदय दरिद्र नहीं है

किसी कि बाहरी चमक से उसकी पहचान नहीं होती
उसकी सोच, ह्रदय का भाव मायने रखता है

किसी गरीब ने सच ही कहा था

मेरी ये भूख भी पेट से है मालिक
हो सके तो इसका भी गर्भपात करवा दो

Image credit SG16

एक बार अंग्रेज़ मैकोले का 1835 मे लिखा ये पत्र पढ़ लीजिये आपको हैरान रह जाएंगे ।


9th Feb 2017

हिन्दी मे पढ़े क्या लिखा अंग्रेज़ macaulay ने 1835 मे अंग्रेज़ो की संसद को !!!

मैं भारत के कोने कोने मे घूमा हूँ मुझे एक भी व्यक्ति ऐसा नहीं दिखाई दिया जो भिखारी हो चोर हो !

इस देश में मैंने इतनी धन दोलत देखी है इतने ऊंचे चारित्रिक आदर्श गुणवान मनुष्य देखे हैं की मैं नहीं समझता हम इस देश को जीत पाएंगे , जब तक इसकी रीड की हड्डी को नहीं तोड़ देते !

जो है इसकी आध्यात्मिक संस्कृति और इसकी विरासत !इस लिए मैं प्रस्ताव रखता हूँ ! की हम पुरातन शिक्षा व्यवस्था और संस्कृति को बादल डाले !
क्यूंकि यदि भारतीय सोचने लगे की जोभी विदेशी है और अँग्रेजी है वही अच्छा है और उनकी अपनी चीजों से बेहतर है तो वे अपने आत्म गौरव और अपनी ही संस्कृति को भुलाने लगेंगे!! और वैसे बन जाएंगे जैसा हम चाहते है ! एक पूरी तरह से दमित देश !!

और बड़े अफसोस के साथ कहना पड़ रहा है की macaulay अपने इस मकसद मे कामयाब हुआ !!
और जैसा उसने कहा था की मैं भारत की शिक्षा व्यवस्था को ऐसा बना दूंगा की इस मे पढ़ के निकलने वाला व्यक्ति सिर्फ शक्ल से भारतीय होगा! और अकल से पूरा अंग्रेज़ होगा !!

और यही आज हमारे सामने है दोस्तो ! आज हम देखते है देश के युवा पूरी तरह काले अंग्रेज़ बनते जा रहे है !!
उनकी अँग्रेजी भाषा बोलने पर गर्व होता है !!

अपनी भाषा बोलने मे शर्म आती है !!

madam बोलने मे कोई शर्म नहीं आती!

श्री मती बोलने मे शर्म आती है !!

अँग्रेजी गाने सुनने मे गर्व होता है !!

मोबाइल मे अँग्रेजी tone लगाने मे गर्व होता है !!

विदेशी समान प्रयोग करने मे गर्व होता है !

विदेशी कपड़े विदेशी जूते विदेशी hair style बड़े गर्व से कहते है मेरी ये चीज इस देश की है उस देश की है !

ये made in uk है ये made इन america है !!
अपने बच्चो को convent school पढ़ाने मे गर्व होता है !!

बच्चा ज्यादा अच्छी अँग्रेजी बोलने लगे तो बहुत गर्व ! 

हिन्दी मे बात करे तो अनपद !

विदेशी खेल क्रिकेट से प्रेम कुशती से नफरत !!!

विदेशी कंपनियो pizza hut macdonald kfc पर जाकर कुछ खाना तो गर्व करना !!

और गरीब रेहड़ी वाले भाई से कुछ खाना तो शर्म !!
अपने देश धर्म संस्कृति को गालिया देने मे सबसे आगे !! 

सारे साधू संत इनको चोर ठग नजर आते है !!

लेकिन कोई ईसाई मिशनरी अँग्रेजी मे बोलता देखे तो जैसे बहुत समझदार लगता है !!

करोड़ो वर्ष पुराने आयुर्वेद को गालिया ! 

और अँग्रेजी ऐलोपैथी को तालिया !!!

विदेशी त्योहार वैलंटाइन मनाने पर गर्व !! 

स्वामी विवेकानद का जन्मदिनयाद नहीं !!!!

दोस्तो macaulay अपनी चाल मे कामयाब हुआ !! 

और ये सब उसने कैसे किया !!

अगर आपका बच्चा शक्ल से भारतीय और अकल से अंग्रेज़ होता जा रहा है !

तो एक बार जरूर देखे आपको जवाब मिल जाएगा !

Shanky❤Salty

कैसे अंग्रेज़ो ने हमारे धार्मिक ग्रंथो,शास्त्रों से छेड़खानी की है ।

मित्रो बहुत कम लोग जानते है की हमारी बहुत सी धार्मिक किताबें,शास्त्र और इतिहास के साथ अंग्रेज़ो ने बहुत छेड़खानी करी है ! आपको सुन कर हैरानी होगी भारत मे एकमूल प्रति है मनुसमृति की जो हजारो वर्षो से आई है और एक मनुस्मृति अंग्रेज़ो ने लिखवाई है ! और अंग्रेज़ो ने इसको लिखवाने मे मैक्स मुलर की मदद ली थी मैक्स मुलर एक जर्मन विद्वान था जिसको संस्कृति बहुत अच्छे से आती थी उसको कहा गया की तुम भारत के शास्त्रो को पढ़ो और पढ़ कर हमको बताओ की उनमे क्या है फिर जरूरत पढ़ने पर इसमे फेरबदल करेंगे !

तब मैक्स मुलर ने मनुस्मृति का अनुवाद किया पहले जर्मन मे किया फिरअँग्रेजी मे किया तब अंग्रेज़ो को समझ आया की मनुस्मृति तो भारत की न्यायव्यवस्था की सबसे बड़ी पुस्तक है और भारत की न्याय व्यवस्था का आधार है ! तो उन्होने मनुसमृति मे ऐसे विक्षेप डलवा दिये ताकि भारत वासियो को भ्रमाया जा सके और उनको गलत रास्ते पर चलाया जा सके ! उनको मनुस्मृति के प्रति बहुत ज्यादा नीचाई की भावना पैदा हो इस तरह के विक्षेप डलवा दिये !
ये विक्षेप केवल मनु स्मृति मे नहींडाले गए बल्कि बहुत सारे अन्य ग्रंथो मे डाले गए और अंग्रेज़ो की बहुत बड़ी टीम थी जो इस कार्य मे लगी हुई थी कोई साधारण अंग्रेज़ो ने ये काम नहीं किया था! विलियम हंटर नाम का अंग्रेज़ हुआ करता था जिसने सबसे ज्यादा भारत के इतिहास मे विकृति डाली सबसे ज्यादा भारत के शास्त्रो के विकृत किया ! जिसने सबसे ज्यादा भारत के पुराने ऋषि ,मुनियो के आत्म वचनो को बिलकुल उल्टा करके बताया !
और ये सब वो कैसे कर पाया ? वो ये किविलियम हंटर अंग्रेज़ो बहुत अच्छी जानता था और उसके साथ साथ उसको संस्कृत भी आती थी ! क्योंकि भारतीयमूल ग्रंथ संस्कृत मे है तो वो उनकोपढ़ लेता था और फिर अंग्रेजी मे कहाँकहाँ उसको विकृति कर बनाना है वो करलेता था ! विलियम हंटर की पूरी टीम थी जो इस कार्य मे लगी थी जिसको कहा गया विलियम हंटर कमीशन !
विलियम हंटर कमीशन की रिपोर्ट के बारे मे बात की जाए तो घंटो घंटो उसी मे निकल जाए हजारो पन्नो मे उन्होने ने रिपोर्ट बनाकर उन्होने ने ये बताया है कि हमने भारत के किस किस विष्य मे किस किस शस्त्र मे क्या क्या परिवर्तन कर दिये है ये उसने अँग्रेजी संसद को भेंट किया थाऔर फिर उस पर बहस हुई थी तो अंग्रेज़ो ने अपने देश मे ऐसे बहुत सारे विद्वानो को तैयार करके भारत के शास्त्रो मे विक्षेपन करवाया बहुत कुछ ऐसी बातें भर दी उसमे जो की विश्वास करने लायक नहीं है तर्क पर कहीं ठहरती नहीं है और सूचना के आधार पर बिलकुल गलत हैं !!
आर्य बाहर से आए उन्होने भारतीय संस्कृति को खत्म कर दिया हमारे पूर्वज गौ मांस खाते थे !ना जाने ऐसी हजारो हजारों बातें और संस्कृत के शब्दो का गलत अर्थ निकाल कर हमारे शास्त्रो मे इन अंग्रेज़ो द्वारा भर दिया गया जो आज भी हमको जानबूझ कर पढ़ाया जा रहा है ताकि हम गुमराह होते रहे हम हिन्दू अपनी अपनी जातियो मे ऊंच -नीच करते ! और हमारे मन हमारी ,संस्कृति ,सभ्यता के प्रति गलत भावना पैदा हो !!
तो मित्रो अंत आपसे निवेदन है को भीभारतीय ग्रंथ ,धार्मिक पुस्तक,शास्त्र पढ़ें तो ध्यान रहे वो इन अंग्रेज़ो द्वारा छेड़खानी किया हुआ ना हो क्योंकि ज़्यादातर बाजार मे बिक रही किताबें वहीं है जिनमे अंग्रेज़ो ने छेड़खानी करी है !!
मेरी पुरी बलौग पढ़ने के लिए धन्यवाद!!!!!!

Shanky 💘 Salty