राष्ट्रभाषा-दिवस……!!!!

September 14, 2018
Shanky❤Salty

मेरी शब्द, मेरी भावनाएँ

मेरा प्रेम, मेरा दर्द, मेरा ज्ञान

सब कुछ तुमसे ही है

पर तुम कहीं खो गईं हो

इस अंग्रेजी की भीड़ में

बचपन में तुमसे मिला था मैं

आज भी याद है

अ से अनार
आ से आम
इ से इमली
ई से ईख
उ से उल्लू
ऊ से उन

तुझ से ही मेरा अस्तित्व है
तु है तो मैं हुं
तु नहीं तो मैं भी नही

कतरा कतरा खोने लगी हो तुम
मेरी जिंदगी कि तरह ही

अब तो तुम अ से अनजान हो गईं हो

मुझ से दुर हो गईं हो
तुम शून्य हो गईं हो

तुम बन जाती विश्व की आवाज
पर अपनो से ही हार गईं हो

लॉर्ड मैकाले कि सोच (हमारी नजरों से देखा जाए तो वह एक साजीस थी)

मैकुलस ने कहा था अगर भारतीय सोचने लगे की जो भी विदेशी है और अँग्रेजी है वही अच्छा है और उनकी अपनी चीजों से बेहतर है तो वे अपने आत्म गौरव और अपनी ही संस्कृति को भुलाने लगेंगे। और वैसे बन जाएंगे जैसा हम चाहते है ।

और बड़े अफसोस के साथ कहना पड़ रहा है की थॉमस बैबिंगटन मैकाले अपने इस मकसद मे कामयाब हुआ।
और जैसा उसने कहा था की मैं भारत की शिक्षा व्यवस्था को ऐसा बना दूंगा की इस मे पढ़ के निकलने वाला व्यक्ति सिर्फ शक्ल से भारतीय होगा। और अकल से पूरा अंग्रेज़ होगा।

और यही आज हमारे सामने है दोस्तो।

आज हम देखते है देश के युवा पूरी तरह काले अंग्रेज़ बनते जा रहे है ।
उनकी अँग्रेजी भाषा बोलने पर गर्व होता है ।

चढ़ गया है हम पर गौरों का रंग
भुल गए है हम अपनी मातृभाषा को
हिंदी तुम चुप चाप ही रहना कोने में
अगर सामने आईं तो लोग हस हस कर मजाक बनाएँगे तेरा
सब को अंग्रेजी ही अच्छी लगती है

तिरस्कृत हुईं है हिंदी
अपने ही घर में हारी है हिंदी
औरों से क्या जीतेगीं हिंदी

परंतु हमारे लिए तो
शान है हिंदी
जुबान है हिंदी
शब्दों कि खान है हिंदी
माँ भारती के सिर कि बिंदी है हमारी हिंदी
सच कहुं तो अभिमान है मेरा हिंदी

YourQuote ने कहा है

“हिंदी हमारी चेतना का अभिन्न अंग है। हिंदी न केवल हमारे विचारों के आदान-प्रदान का माध्यम है बल्कि ज्ञान, विज्ञान और अध्यात्म का विपुल स्रोत भी है।बतौर एक भारतीय हम हिंदी पर जितना गर्व करें कम होगा।”

राष्ट्रभाषा-दिवस की सभी देशवाशियों को बधाई ।

मेरे एक मित्र ने बहुत खुब कहा था
LOL में वह मजा नहीं
जो
बकलोल कहनें में है

Advertisements

57 thoughts on “राष्ट्रभाषा-दिवस……!!!!

  1. जो देश अपनी संस्कृति को बचा पाने में सक्षम होता है, उसके विकास की गति कभी नहीं रूकती है। हिंदी को दर किनार करके भारत भी अग्रणी नहीं बन पायेगा। इसी सन्देश के साथ विश्व हिंदी दिवस की शुभकामनायें।

    Liked by 4 people

  2. क्या खूब लिखा है—/
    क ख ग से शुरू जीवन मगर सच में अब

    मेरी शब्द, मेरी भावनाएँ

    मेरा प्रेम, मेरा दर्द, मेरा ज्ञान

    सब कुछ तुमसे ही है

    पर तुम कहीं खो गईं हो

    इस अंग्रेजी की भीड़ में

    Liked by 3 people

    1. I appreciate it.

      Total number of Japanese speakers are 128million.
      But total number of Hindi Speakers are 544million.

      Hindi language is not very old. By 18th century Hindi is used.
      But Japanese language is used by 8th century.

      Liked by 4 people

  3. wow, and this is really true.
    ना जाने कहाँ खो गई हो तुम
    अपनी आदत लगा गुम हो गई हो तुम
    ना जाने कहाँ खो गई हो तुम
    अग्रेजी के साथ छोड़
    ना जाने कहाँ गई हो तुम
    ना जाने कहाँ खो गई हो तुम

    Liked by 3 people

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.