दोस्ती………

February 7, 2018
Shanky❤Salty

दोस्ती यूं तो बड़ा प्यारा और मासूम रिस्ता है। इसमें किसी स्वार्थ कि कोई जगह नहीं है। लेकिन दोस्ती अगर लड़का-लड़की के बीच हो, तो इसे अलग तौर पे देखा जाता है। दुनिया के लोग इस रिश्ते को अपने नज़रिए, अपने विचारों में मिलाकर पेश करते हैं। मतलब कि नमक-मिर्च लगाकर।

बात काफी पुरानी है पर मेरे दिल में हमेशा घूमती है। सोचा आज लिख दूं ताकि लोगों कि सोच बदल सकें। दरअसल, दोस्ती एक ऐसा रिस्ता है जो हमें जन्म से नहीं मिलता है। हम खुद अपनी इच्छा से इस रिश्ते को चुनते है।

दोस्ती को लेकर जब भी कोई जिक्र करता है तो मुझे मेरे सबसे अच्छे दोस्तों कि याद आ जाती है।

पहले मुझे मस्ती का मतलब पता था पर दोस्ती का मतलब नहीं जनता था। दिल जो कहें वो किसी भी हाल में करना है। पर वक्त ने मुझे धीरे-धीरे दोस्ती का मतलब सीखा ही दिया।

अपने दोस्ती के रिश्ते में मैंने एक बात नोटिस कि है:-

  • जब हम अकेले होते है तो बोर होते रहते है।
  • जब हम दो दोस्त मिलते है तो चुगली होती है।
  • जब हम तीन दोस्त मिलते है तो इधर-उधर कि बातें होती है।
  • जब हम चार दोस्त मिलते है तो 29 या कैल-ब्रेक का सिलसिला शुरू होता है।
  • जब हम पाँच-सात दोस्त मिलते है तो वही पुराणा मिनी-मिलीसिया शुरू होता है।

We have one relation which is ‘Sabka Bap’ is know as “Dosti“.
Why???????

Because

  1. Respect is not a part of this relation:- We always said that ‘Kutte, Kamine, aabey, Chorwaa, Lichhhadd” kahkar bulate hai. It’s very common but you can not use in other relations.
  2. Long distance does not matter:- Most of the time couple will break up with each other just because of long distance. But in “Dosti” it does not matter. For them it is part of life and they can go there at any time and will have meet to their friends.
  3. Wherever you are, with whom, who cares just meet to your friend:- If you are at home, with your life partner you can go and meet to your friend and can stay with him for a long time but for couples they have to tell lie to their parents and all.
  4. Money:- Most important factor is money because if you have this paper then you be in any relation but if you do not have then also you can be in one relation it is none other than it is “Dosti”. Your partner can leave if you do not have money and your parents can force you to earn money but friend can help if you do not have single penny in your pocket. Note:- Make sure that you will return money of your friend, otherwise he will tell “De naa, Bhaai De naaa…….” & irritate you.
  5. Never say “Mn ni h” Or “Uth rhe h na”:– Don’t use this word otherwise he will come to your room remove your blanket and will catch your leg. Then definitely you will be in trouble.

Likhne kya baithaa thaa likhh kyaa diyaa. Sorry yaar next time pakkka.

Advertisements

21 thoughts on “दोस्ती………

  1. बेटा अपकी दोस्ती सबसे नयारी है। आपने मुझे भी बचपन की याद दिला दि। ये दोस्ती कभी ना टुटे।

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.